सूर्यांश भारत मिशन ट्रस्ट ने मोराबादी के महात्मा गांधी स्मृति स्थल के पास किया धरना प्रदर्शन

258 views

शिव शंकर, झारखण्ड।झारखंड सरकार द्वारा जारी किए गए छठ महापर्व के गाइडलाइन जिसमें कहा गया की छठ पूजा नदी तालाब घाटों पर अनुमति नहीं है एवं छठ व्रतियों को अपने घर पर ही सूर्यदेव को अर्घ्य देने की सलाह दी गई है। इस गाइडलाइन को पुनर्विचार करने का आग्रह करते हुए सूर्यांश भारत मिशन ट्रस्ट ने मंगलवार को मोराबादी के महात्मा गांधी स्मृति स्थल के पास अपना धरना विरोध प्रदर्शन किया।

सूर्यांश भारत मिशन ट्रस्ट के राष्ट्रीय सचिव शालिनी शाह ने कहा कि महाआस्था का छठ महापर्व नदी तालाब के घाटों पर ही करने का विधान है प्राचीन समय से सूर्यदेव को नदी तालाब के घाट पर ही अर्थ देने की प्रथा चली आ रही है ऐसे में झारखंड सरकार द्वारा छठ महापर्व को घाटों पर अनुमति नहीं देने अत्यंत ही निंदनीय है। वेदों के अनुसार सूर्य देव को ग्रहों का राजा माना गया है इस कलयुग में सूर्य देव एकमात्र सदृश्य साक्षात ईश्वर हैं जिनके आशीर्वाद के बिना इस धरती पर किसी भी प्रकार का जीवन संभव नहीं है नाही वनस्पति नाही जीव जंतु ऐसे में सूर्यदेव जैसे साक्षात जीवंत सदृश्य भगवान का अपमान झारखंड सरकार के मुखिया हेमंत सरकार के द्वारा हुआ है जो घोर पाप है।

ट्रस्ट के राष्ट्रीय सचिव शालिनी शाह ने कहा कि किसी भी परिस्थिति में चाहे जान ही क्यों न चली जाए हम सभी छठ पर्व को घाटों पर ही जाकर मनाएंगे इसमें सरकार से भी विनम्र निवेदन है कि इस संघर्ष को आंदोलन में बदलने से रोक ले अभी भी समय है और गाइडलाइन में परिवर्तन कर छठ व्रतियों को राज्य के नदी तालाब के घाटों पर छठ पर्व मनाने की खुशी खुशी इजाजत दे दे।

रही बात कोरोना के संकट काल की तो जनता भली भांति इस महामारी से परिचित है और अपना बचाव करना जानती है फिर भी हम सभी यह झारखंड सरकार को वचन देते हैं कि मास्क और सैनिटाइजर के साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए हम सभी छठ व्रती विभिन्न नदी तालाब के घाटों पर छठ पर्व को मनाएंगे।

उम्मीद है झारखंड सरकार को छठ महापर्व की महिमा का ज्ञात हो चुका होगा और वह यथाशीघ्र गाइडलाइन में यथा उचित परिवर्तन करेंगे इस मौके पर तमाम हिंदू संगठन और छठ महा नगर पूजा समिति के सदस्य एवं संत समाज के मुखिया श्री दिव्यानंद महाराज जी भी सूर्यांश भारत मिशन ट्रस्ट के मंच पर खड़े थे और तमाम छठ महापर्व में आस्था रखने वाले लाखों लोग समर्थन कर रहे हैं मौके पर सूर्यांश भारत मिशन ट्रस्ट के आशीष विभूति युवा सचिव भी मौजूद थे

Related Posts

About The Author

Add Comment