वसंत पंचमी के अवसर पर प्रधानमंत्री ने दी शुभकामनायें

44 views

न्यूज़ डेस्क, दिल्ली। वसंत पंचमी कहिये या माँ सरस्वती के पूजन का दिन बात एक ही है। माँ सरस्वती को विद्या, ज्ञान और कला की देवी कहा जाता है। बसंत पंचमी का त्योहार हर साल माघ मास के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को मनाया जाता है। इसी दिन से वसंत ऋतु की शुरूआत मानी जाती है। इस बार वसंत पंचमी १६ फरवरी, मंगलवार के दिन है।

माँ सरस्वती के प्रगट होने की प्राचीन दन्त कथा

पौराणिक आख्यान के अनुसार, कहा जाता है की माँ सरस्वती की जिस दिन उत्पत्ति हुई थी वह वसंत पंचमी का दिन था। सृष्टिकर्ता ब्रह्मा जी ने जब सृष्टि की रचना की थी तब उन्होंने पेड़-पौधे, जीव-जन्तु और मनुष्य बनाए। किन्तु सब बना कर भी इस सृष्टि में रस, और स्वर की कमी थी। तब तब ब्रह्मा जी ने कमंडल से जल छिड़का. जिससे चार हाथों वाली एक सुंदर स्त्री प्रकट हुई। उस स्त्री के एक हाथ में वीणा, दूसरे में पुस्तक, तीसरे में माला और चौथा हाथ वर मुद्रा में था. ब्रह्मा जी ने इस सुंदर देवी से वीणा बजाने को कहा। जैसे वीणा बजी, ब्रह्मा जी की बनाई हर चीज में स्वर आ गया। तब ब्रह्मा जी ने उस देवी को वाणी की देवी सरस्वती नाम दिया।

वसंत पंचमी का महत्त्व

वसंत पंचमी के दिन से वसंत ऋतु का आगमन माना जाता है। कहा जाता है की यह दिन बहुत ही शुभ होता है। इस दिन कोई भी नया काम शुरू करने का विधान है। कहते हैं कि वसंत पंचमी के दिन बिना मुहूर्त देखे दिन के किसी भी वक्त कोई भी कार्य किया जा सकता है। बहुत से लोग तो वसंत पंचमी का दिन इतना शुभ मानते हैं कि इसी दिन से अपने बच्चों को पहली बार लिखना सिखाते है।

प्रधानमंत्री ने दी वसंत पंचमी कि बधाई

प्रधानमंत्री मोदी ने बसंत पंचमी और सरस्वती पूजा के शुभ अवसर पर देशवासियों को शुभकामनाएं दी हैं। एक ट्वीट में प्रधानमंत्री ने कहा, ‘बसंत पंचमी और सरस्वती पूजा के पावन अवसर पर आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं।‘

Related Posts

About The Author

Add Comment