7 साल के भाविक ने जीता ताइक्वांडो में स्वर्ण पदक

163 views

पूत के पांव पालने में ही दिख जाते है,यह कहावत तो आपने सुनी ही होगी पर इस काहवत को असल जिंदगी में चरितार्थ किया है पंचकूला के भाविक जिंदल ने । उसने छोटी सी उम्र में ही अपनी प्रतिभा का लोहा पूरी दुनिया में मनवाना शुरु कर दिया है।

इसकी बानगी पंचकूला के सेंट सोल्जर स्कूल में दिखी, जहां भाविक ने डिफेंस ताइक्वांडो क्लब, एमडीसी, पंचकूला द्वारा 14 फरवरी, 2021 को आयोजित हुए पहले डिफेंस ताइक्वांडो कप 2021 में एख साथ अलग – अलग खेलों में दो पदक जीतकर अपनी प्रतिभा की झलक दी।

ताइक्वांडो क्लब, एमडीसी, पंचकूला के जरिए कई खेल प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया था, जिसमें मुख्य अतिथि श्री नरेंद्र पाल सिंह लोबाना, एमसी (वार्ड नंबर 1), पंचकूला और सुश्री संध्या गोयल, प्रिंसिपल, स्टेला मैरिस पब्लिक स्कूल, पंचकुला  के सदस्य शामिल थे। जिन्होंने प्रकियोगिताओं के समय बच्चों की हौंसला अफजाई की साथ ही बच्चों के उज्जवल भविष्य की कामना भी की।  

खेल के समापन्न के दौरान ही भाविक को उसके जरिए जीते गए दो खेलो के लिए उसे सम्मानित किया गया,जिसमें भाविक ने ताइक्वांडो में स्वर्ण पदक और बोर्ड ब्रेकिंग इवेंट में कांस्य पदक जीता था।

भाविक इस उपल्बधि पर उसके कोच श्री सतिंदर सिंह काफी खुश थे, साथ ही उन्होंने बताया कि भाविक अभी 7 साल का है और वह दूसरी कक्षा में पढ़ता है। उसकी ताइक्वांडो जैसे आदि खेलों में काफी रुचि है।जिसके लिए वह दिन रात कड़ी मेहनत करता है तथा रोजाना 1.5 घंटे ताइक्वांडो का अभ्यास करता है।   

बता दें कि भाविक ओनेक्स ताइक्वांडो अकादमी के श्री सतिंदर सिंह से ताइक्वांडो कौशल सीख रहा है। जो खुद भी इस खेल के हर पैंतरे को भली भांति जानते और समझते है औऱ वह भाविक इस सफलता से काफी खुश थे।

Related Posts

About The Author

Add Comment